Romantic Shayari in Hindi 2020 – रोमांटिक शायरी इन हिंदी

Romantic Shayari in Hindi 2020

आ गयी जवानी जी भरके प्यार करो 
आ गयी बहारे जी भरके इकरार करो 

जवानी आती हैं तो बहार भी आती हैं 
बहार आती हैं तो दिल पे ख़ुशी छाती हैं 

अभी दिल नादाँ हैं, दिल किसी का कायल हैं 
क्या करोगी दिल ले के, अभी दिल घायल हैं 

इन्सान   एक   बार   ठोकरे  खाने  से सुधरता हैं 
चाहे कितनी भी मुसीबत हो वह सामना  करता हैं 

अभी तो मैं जवां हूँ तुम हसीं हो, मुझसे करो प्यार 
दिल की दुनिया में बैठकर तुम मुझसे करो इजहार 

तेरी यादों को दिन रात लिए फिरता हूँ 
मैं अपना गम अपने से लिए फिरता हूँ 

शमां जल ही जाएगी, परवाने आ ही जायेंगे 
देखना सनम हम क्या से क्या हो ही जायेंगे 

मुकाबला हमसे करो और किसी से नहीं 
दिल भी हमी को दो  और किसी को नहीं 

Romantic Shayari in Hindi 2020
Romantic Shayari in Hindi 2020

लाइन, दो लाइन की बात नहीं, बस जो दिल से निकल जाए वही शायरी होती है:

फ़ुरसत मिले जब भी रंजिशें भुला देना
कौन जाने सासों की मोहलतें कहाँ तक हैं

कल रात चाँद बिल्कुल उनके जैसा था,
वही नूर….. वही गुरूर……वही सुरूर,
वही उनकी तरह…. हमसे कोसों दूर……

कभी चाल, कभी मकसद, कभी मंसूबे यार होते हैं…
इस दौर में सलाम के भी मतलब हज़ार होते हैं…

Romantic Shayari in Hindi 2020 – रोमांटिक शायरी इन हिंदी 

तेरी याद मिटाने के लिए जरूरी हो गया हैं पीना 
क्योंकि रास ना आया तुझे इश्क में हमारा जीना 

पूछो ना हमसे तुम हुस्न वालो के सितम 
दे रहे हैं आजकल वो हमको गम ही गम 

शराब गर तबाह करती हैं 
मोहब्बत करती हैं बदनाम 
अब तो लेंगे ना हम कभी 
मोहब्बत करने का नाम 

कुछ पाने के लिए यारों कुछ खोना पड़ता हैं 
अब पता चला हमे प्यार करके रोना पड़ता हैं 

माना इश्क तबाही हैं बेशक 
फिर भी लोग इश्क करते हैं 
आप इतनी सुंदर हैं कि हम 
तुझ पे दिलो-जान से मरते हैं 

रूठे जो आप हमसे कभी, मर जायेंगे कसम से 
चाहते आ रहे हैं साथी हम तुझको जन्म जन्म से 

मेरी रोती हुई आँखों से 
बर्बादी का नजर देख लेते 
गर आपका जवाब मिल जाता 
तो हम अपने आंसू पोंछ लेते 

अधखुले होंठ तेरे, तेरी सुंदर मुस्कान 
तू कहे तो तेरे लिए मैं दे दूँ अपनी जान 

याद आती हैं तेरी जब लहराते हैं बादल 
आपके प्यार ने समन कर दिया हैं पागल 

गिन गिन कर तारे, रातें हमारी गुजर जाएँगी 
अकेले आये थे दुनिया में तेरी यादे साथ जाएँगी 
रोते रोते हुए सनम, जिन्दगी मेरी गुजर जाएगी 
अकेले आये थे दुनिया में तेरी यादे साथ जाएँगी 

जान से भी ज्यादा चाहा हैं जिनको 
हुस्न वाले वो तडपा रहे हैं मुझको 

तेरे कूंचे से निकलेगा जिस दिन जनाजा मेरा 
उस दिन याद आएगा सनम तुझे प्यार मेरा 

हम करम किये जायेंगे 
तुम सितम किये  जाओ 
हम प्यार किये जायेंगे 
तुम जख्म दिए जाओ 

तेरे होंठो को देखते ही मेरी प्यास बढ़ जाती हैं 
तेरे हुस्न को देखते ही बिन पिए ही चढ़ जाती हैं 

तू ही मेरी आँखे हैं, तू ही मेरा काजल 
तू ही मेरा आसमां, मैं हूँ तेरा बादल 

मेरी मोहब्बत को पागलपन कहते हो 
सच पुछो तो तुम ही दिल में रहते हो 

चैन ना मिला मुझे कभी तुमसे प्यार करके 
दिखा देंगे तेरी याद में इक दिन यार मरके 

Best Love Shayari in Hindi 2020

तेरी आँखों के शराबखाने में झूमकर मर जाऊ मैं 
ऐ यार अपना जीवन भी मैं तेरे नाम कर जाऊ मैं 

तेरे लिए ही साथी दुनिया में आये हम 
दिल से कभी तेरा प्यार होगा ना कम 

होती हो क्यों तुम मेरे प्यार से इतना परेशां 
हुस्न की पारी हो तुम, या हो कोई करिश्मा 

तेरा नाम लेकर इस दुनिया से चले जायेंगे 
तू ना मिली मुझे तो घुट घुट कर मर जायेंगे 

खूब रोये हैं दिल के घर की चार-दीवारी में हम 
हाले दिल सुनाने की खातिर कोई हम साया न था 

हमने तुमको दिल दिया, हम क्या करे 
जाने वाली चीज का भी, गम क्या करे 
एक सागर पर हैं अपनी जिन्दगी अब तो 
सफलता-सफलता इससे ज्यादा हम क्या करे 

गुजार सकेंगे न लम्हे तेरी याद में 
तेरी जुदाई का गम खिलाएगी हमे 

तक़दीर बनाने वाले तूने कभी कोई कमी न की 
अब किसको क्या मिला, ये तो मुकदर की बात हैं 

Romantic Shayari in Hindi 2020

ताउम्र जन्नत में रह कर, उसे उजाड़ने में गुजार दी…
और जिहाद बस इस बात की थी, की मरने के बाद जन्नत मिले..

सरेराह जो उनसे नजर मिली तो, नक्श दिल के उभर गए
हम नजरें मिलाकर झिझक गए , वो नजर झुका कर चले गए

अज़ीज़ इतना ही रखो कि जी संभल जाये..
अब इस कदर भी न चाहो कि दम निकल जाए…

किसी ने हमसे कहा की, आपकी आँखे बहुत सुन्दर है
ग़ालिब हमने भी कहा,
तेज बारिश के बाद अक्सर मौसम सुहावना हो ही जाता है..

यह इनायतेँ गजब की,यह बला की मेहरबानी,
मेरी खैरियत भी पूछी, किसी और की जबानी.

वो खुश हो के मुझसे, खफा हो गया
मुझे क्या उम्मीदें थी,क्या हो गया.

हज़ारो जवाब से अच्छी मेरी ख़ामोशी
न जाने कितने सवालों की आबरू रख ली

अपने होठों को किसी परदे में छुपा लो
हम ज़ालिम लोग है,नजरो से चूम लिया करते हैं…

गुनाह ए इश्क में इक वो दौर भी बहुत खास रहा,
जब मेरा न होकर भी….. तू मेरे बहुत पास रहा।

तेरी राह देखते देखते, जो थक गया…..
फिर तुझे ढूँढने…..मेरी आँखों के आँसू निकले।

पाबंद ए वफा है, कोई सफाई नही देंगे…..
साये की तरह रहेंगे साथ….. पर दिखाई नही देंगे।

पसीना उम्र भर का उसकी गोद मे सूख जाएगा…..
हमसफर क्या चीज है, ये बुढ़ापे मे समझ आएगा।

बिछड़ कर फिर मिलेंगे, यकीन कितना है…
बेशक ख्वाब ही है मगर हसीन कितना है।

प्यार मे कितनी बाधा देखी,
फिर भी कृष्ण संग राधा देखी।

हल्के मे मत ले साँवले रंग को ए ग़ालिब…..
हमने यहाँ दूध से ज्यादा चाय के दीवाने देखे हैं ।

जो तेरे गुलाबी लब मेरे लबों को छू जायें,
मेरी रूह का मिलन तेरी रूह से हो जाये,

ज़माने की साज़िशों से बेपरवाह हो जायें,
मेरे ख्वाब कुछ देर तेरी बाहों में सो जायें,

मिटा कर फ़ासले हम प्यार में खो जायें,
आ कुछ पल के लिये एक-दूजे के हो जायें।

जब यार मेरा हो पास मेरे, मैं क्यूँ न हद से गुजर जाऊँ,
जिस्म बना लूँ उसे मैं अपना, या रूह मैं उसकी बन जाऊँ।
लबों से छू लूँ जिस्म तेरा, साँसों में साँस जगा जाऊँ,
तू कहे अगर इक बार मुझे, मैं खुद ही तुझमें समा जाऊँ।

Sad Quotes

भरी बहार में इक शाख़ पर खिला है गुलाब
के जैसे तुम ने हथेली पे गाल रक्खा है ..

तेरे आने की क्या उम्मीद मगर
कैसे कह दें के इन्तिज़ार नहीं

अब इतनी बंद नहीं ग़मकदों भी राहें
हवा-ऐ-कूचा-ऐ-मेहबूब चल तो सकती है
कभी वो मिल न सकेगी मैं ये नहीं कहता
के आँख आँख में पड़कर बदल तो सकती है

नींद उसकी है दिमाग़ उसका है रातें उसकी हैं
तेरी ज़ुल्फ़ें जिसके बाज़ू पर परेशाँ हो गईं
(ये शेर मिर्ज़ा ग़ालिब का है)

बहोत मुश्किल है दुनिया का संवरना
तेरी ज़ुल्फ़ों का पेच-ओ-ख़म नहीं है

रागों में दौड़ते फिरने के हम नहीं क़ायल
जब आँख ही से न टपका तो फिर लहू क्या है
(ये शेर मिर्ज़ा ग़ालिब का है)

तेरे बदन की लिखावट में है उतार चढ़ाव
मैं तुझको कैसे पढूंगा मुझे किताब तो दे

उसकी चाहत में मिट गए जो लोग
ऐसे लोगों में एक ख़ुदा भी है

ऐ हुस्न-ए-बेपरवाह तुझे शबनम कहूँ शोला कहूँ
फूलों में भी शोख़ी तो है किसको मगर तुझसा कहूँ

छलके हुए थे जाम परेशाँ थी ज़ुल्फ़-ऐ-यार
कुछ ऐसे हादसात से घबरा के पी गया

आपका साथ साथ फूलों का
आपकी बात बात फूलों की

ता उम्र दुख सहा है हमने अब तो दो घड़ी
सर पर तेरे ज़ुल्फ़ों की सुहानी घटा भी हो

किसे नसीब के बे पैरहन उसे देखे
कभी कभी दर-ओ-दीवार घर के देखते हैं
पैरहन – dress

रिश्ता-ए-जाँ था कभी जिसका ख़याल
उसकी सूरत भी तो अब याद नहीं

बंदा परवर ये हिजाबों का तकल्लुफ़ कैसा
मस्ती-ए-हुस्न की तकमील है उरयाँ होना
तकमील – completion
उरयाँ – naked

ग़ैर की नज़रों से बच कर सबकी मर्ज़ी के ख़िलाफ़
चोरी चोरी वो तेरा रातों को आना याद है

ये मुझे चैन क्यों नहीं पड़ता
एक ही शख़्स था जहान में क्या

Mirza Ghalib

Best Love Shayari in Hindi and English Font: If you want to get the best love shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *