Yaari Dosti Status in Hindi / यारी दोस्ती स्टेटस

Pakki Yaari Dosti Status in Hindi – यारी दोस्ती स्टेटस

यारी दोस्ती स्टेटस इन हिंदी इमेजेज फॉर यू आर फॉर सिर्फ़ इस पोस्ट में।

हमने आपके लिए व्हाट्सएप और फेसबुक के लिए हिंदी स्टेटस में बहुत से यारी स्टेटस एकत्र किए हैं। “दोस्त” नाम सुनकर बहुत अच्छा लगता है।

दोस्तों, दुनिया में ऐसे कई लोग हैं जो अपनी दोस्ती के लिए मर भी सकते हैं।

दोस्तों की दोस्ती में कभी कोई रूल नहीं होता है
और ये सिखाने के लिए, कोई स्कूल नहीं होता है…!

करलो हम से दोस्ती लड़ना मुश्किल होगा,
वरना लिखेंगे इतिहास ऐसा पढना मुश्किल होगा…!

दोस्ती कभी स्पेशल लोगो से नही होती,
जिनसे दोस्ती हो जाती है वह लोग ही स्पेशल हो जाते है…!

यारी निभाते हैं जान देकर…
खौफ खाती है दुनिया हमसे,
क्यूँकि हम जीते हैं शेर की दहाड़ लेकर…!

Yaari Dosti Status in Hindi
Yaari Dosti Status in Hindi

खास लोगों से कभी दोस्ती नहीं होती, सिर्फ वो लोग जो दोस्त बनते हैं, खास बन जाते हैं।

इस पोस्ट में, आपका दिल छूने वाला यारी दोस्ती स्टेटस हिंदी में दिया गया है, जिसे आप व्हाट्सएप, फेसबुक और इंस्टाग्राम में अपने दोस्तों के साथ साझा कर सकते हैं।

हम दोस्ती करते हैं तो अफसाने लिखे जाते हैं,
और दुश्मनी करते हैं तो तारिखे लिखी जाती हैं..!

हमारी और आपकी दोस्ती इतनी गहरी हो कि,
नौकरी करो आप ….. सैलरी हमारी हो..!

दोस्ती का शुक्रिया कुछ इस तरह अदा करू,
आप भूल भी जाओ तो मै हर पल याद करू,
खुदा ने बस इतना सिखाया मूझे,
कि खुद से पहले आपके लिए दुआ करू…!

फर्क तो अपने-अपने सोच में है…. वरना
दोस्ती भी मोहब्बत से कम नही होती..!

Yaari Dosti Status in Hindi
Pakki Yaari Dosti Status in Hindi

Pakki Yaari Dosti Status in Hindi 2020

हम दोस्तों के होते बुरा टाइम नही आ सकता,
अगर आ भी जाए तो हमारी दोस्ती के आगे नही टिक सकता !

तेरी दोस्ती के साये में जिंदा हैं अब तक,
हम तो तुझको खुदा का दिया हुआ ताबीज़ मानते हैं !!

दोस्ती में लोग जान भी देते है,
लेकिन अपनी जान का,
मोबाइल नंबर नहीं देते…!

अपनी दोस्ती का बस इतना सा असूल है,
जो तू कुबूल है, तो तेरा सब कुछ कुबूल है..!

दोस्त ही तो होते हैं असली दौलत,
यूँ तो पूरी ज़िन्दगी पड़ी है पैसे कमाने को !

दोस्त ख़रीदे नहीं जाते,
ये तो वो कमीने होते है,
जो आपको कभी शरीफ नहीं देखना चाहते!

मुझे पागलो से दोस्ती करना पसंद है साहब,
क्योंकि मुसीबत में कोई समझदार नहीं आता !

अच्छा दोस्त एक फूल की तरह होता हैं
जिसे हम छोड़ और तोड़ भी नही सकते,
तोड़ दिया तो मुरझा जाएगा
और छोड़ दिया तो कोई और ले जाएगा!

क्युँ मुश्किलों में साथ देते हैं दोस्त
क्युँ सब गम को बांट लेते है दोस्त
ना रिश्ता खून का ना रिवाज से बंधा
फिर भी जिन्दगी भर साथ देते हैं दोस्त

मित्रता दो शरीरों में एक दिमाग है।

असली हीरे की चमक नहीं जाती,
अच्छी यादों की कसक नहीं जाती,
कुछ दोस्त होते है इतने खास कि
दूर होने पर भी महक कभी नहीं जाती।

एक सच्चा दोस्त , उचित सलाह देता है, सहजता से मदद करता है,
आसानी से जोखिम उठाता है, सबकुछ धैर्यपूर्वक सहता है,
हिम्मत से बचाव करता है और बिना बदले दोस्ती बरक़रार रहता है।

कहते है दिल की बात हर किसी को बताई नहीं जाती,
पर दोस्त तो आईने होते हैं और आईने से कोई बात छुपाई नहीं जाती।

दोस्ती हमारी जान है,और जान के लिए जिंदगी कुर्बान हैं।

कौन कहता है की दोस्ती बराबरी में होती है,
सच तो ये है की दोस्ती में सब बराबर होते है।

पुरुष मित्रता को फ़ुटबाल की तरह चारो ओर मारते हैं, लेकिन वो टूटती नहीं है. महिलाएं इसे शीशे की तरह लेती हैं और वो टुकड़े-टुकड़े हो जाती है।

यारी दोस्ती स्टेटस
Pakki Yaari Dosti Status in Hindi

दोस्त कोई शब्द नहीं, जो मिट जाए।
उम्र नहीं, जो ढ़ल जाए। सफर नहीं, जो कट जाये।
ये वो खूबसूरत एहसास है जिसके लिए यदि जिया जाए,
तो जिन्दगी भी कम का पड़ जाए।

मित्रता दो शरीरों में रहने वाली एक आत्मा है।

स्टाइल ऐसा करो की दुनिया देखती जाये,
और यारी ऐसी करो की दुनिया जलती रह जाए..!

दोस्ती के दीवाने है इसीलिए हाथ फैला दिया,
वर्ना हम तो खुद के लिए भी दुआ नहीं करते।

यारो आपसे जूदा होकर मर जायेंगे हम,
मर के भी यारी निभायेंगे।
और आपको भी ऊपर बुलायेगे,
फिर साथ मिलकर यमराज की बेटी को पटायेंगे।

यारों की यारी भी खिचड़ी से कम नहीं,
स्वाद भले ही न रहे पर कमबख्त भूख मिटा देती है।

दोस्ती सच्ची होनी चाहिए,
पक्की तो सड़क भी होती है।

मित्र संकट के समय प्रेम दिखाते हैं.

दोस्त पैदा होते हैं, बनाये नहीं जाते.

दुश्मन को जलाना, और दोस्त के लिए,
जान की बाजी लगाना, फितरत है हमारी

दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको
हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं।

Good Morning quotes in 2020

रफ्तार कुछ जिंदगी की यू बनाये रखी है हमने..कि
दुश्मन भले आगे निकल जाए पर दोस्त कोई पिछे ना छुटेगा।

मैं भूला नहीं हूँ किसी को मेरे बहुत अच्छे दोस्त हैं ज़माने में
बस थोड़ी ज़िन्दगी उलझी हुई है दो वक़्त की रोटी कमाने में

Pakki Yaari Dosti Status in Hindi
Yaari Dosti Status in Hindi

सभी के साथ विनम्र रहिये, पर कुछ के साथ ही घनिष्ठता बनाइये, और इन कुछ को भी पूर्ण विश्वास करने से पहले अच्छी तरह से जांच लीजिये।

वक़्त की यारी तो हर कोई करता है मेरे दोस्त,
मजा तो तब आये जब वक़्त बदल जाये और यार ना बदले।

सबके चेहरे में वह बात नहीं होती,
थोड़े से अँधेरे से रात नहीं होती,
ज़िन्दगी में कुछ लोग बहुत प्यारे होते हैं,
क्या करे उन्ही से आजकल मुलाकात नहीं होती…

दोस्ती वो नहीं जो जान देती है,
दोस्ती वो भी नहीं जो मुस्कान देती है,
अरे सच्ची दोस्ती तो वो है मेरे यारों…
जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है|

एक सच्चा दोस्त कभी आपके रास्ते में नहीं आता जब तक कि आप गलत रास्ते पे ना जा रहे हों।

शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये
जीवन के वो हसीं पल मिल जाये
चल फिर से बैठें वो क्लास कि लास्ट बैंच पे
शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ

फूलों की दोस्ती से काँटों की दोस्ती अच्छी है, जो हमें कठिन से कठिन रास्तों पर चलने की प्रेरणा देती है !

खुदा ने दोस्ती को दोस्त से मिलाया,
दोस्तोँ के लिये दोस्ती का रिश्ता बनाया,
पर कहते है दोस्ती रहेगी उसकी कायम,
जिसने दोस्ती को दिल से निभाया

झूठ बोलकर दोस्त बनाने से सच बोलकर दुश्मन बनाना बेहतर है ।

Pakki Yaari Dosti Status in Hindi

यदि आपके लिए अपने मित्र की आलोचना करना पीड़ादायक है- आप बिना डरे कर सकते हैं. लेकिन यदि आपको इसमें थोडा सा भी मजा आता है तो ये समय ज़ुबान पर लगाम देने का है।

लकीरें तो हमारी भी बहुत ख़ास है…
तभी तो तुम जैसा दोस्त हमारे पास है…!!

रमेश और सुरेश दोनो गहरे मित्र थे उनकी इस सच्ची दोस्ती के सभी कायल थे, बचपन से दोनों एक साथ पढ़े लिखे थे दोनों एक ही गाव में रहते थे।

रमेश जिसके पिता व्यापारी थे उनके पास खूब पैसा था इसलिए राम धन दौलत से अमीर था जबकि श्याम जिसके पिता एक गरीब किसान थे।

दिन रात माता पिता अपने खेतो में मेहनत करते थे जिसके कारण उनका गुजारा हो पाता था वे किसी तरह भी अपने बेटे को पढ़ा लिखा रहे थे वे अपने मेहनत पर विश्वास करते थे।

सुरेश का दोस्त रमेश भी बहुत ही मेहनती था उसे तनिक भी अपने पैसो का घमंड नही था जिसके चलते रमेश और सुरेश की आपस में खूब बनती थी।

सुरेश गरीब होने के बावजूद भी रमेश की हर तरह से मदद किया करता था और रमेश भी जरूरत पड़ने पर सुरेश की मदद किया करता था।

एक बार की बात है रमेश और सुरेश के स्कूल में परीक्षा चल रही थी, उनका स्कुल जो की गाव से थोडा दूर था इसलिए रमेश और सुरेश अपने अपने साइकिल से स्कूल जाते थे लेकिन परीक्षा के दिन रमेश थोडा जल्दी निकल गया तो उसकी बीच रास्ते में ही उसकी साइकिल ख़राब हो गयी।

रमेश ने बहुत कोशिश की उसका साइकिल ठीक हो जाये लेकिन तनाव की चिंता में उसका साइकिल ठीक नही हो पा रहा था और उसे स्कूल पहुचने में काफी देरी भी हो रही थी की इतने में उसका दोस्त सुरेश भी अपने साइकिल से पीछे से आ गया और रमेश को देखकर तुरंत रुक गया।

और रमेश से सारा हाल पूछने लगा और जब सुरेश को साइकिल ख़राब होने के बारे में पता चला तो उसने तुरंत उससे कहा की यदि मेरे रहते मेरे मित्र को परेशानी हो तो फिर ये मित्रता किस काम की और इतना कहकर सुरेश ने रमेश को अपने साइकिल ऐसे ही लेकर चलने को कहा।

जब दोनों मित्र को कुछ आगे चलने पर नजदीक गाव में सुरेश ने उसका साइकिल रखवा दिया और फिर दोनों एक ही साइकिल पर पेपर देंने गये इसके बाद तो रमेश ने सुरेश से कहा की मित्र अगर तुम आज न होते तो मेरा पेपर छुट जाता।

इसके बाद रमेश ने निश्चय किया वह सुरेश की दोस्ती को कभी नही भुलायेगा और वक़्त पड़ने पर सुरेश के जरुर काम आयेगा, इस दिन के बाद से तो रमेश और सुरेश की मित्रता और घहरी हो गयी।

समय बीतता गया रमेश और सुरेश अब बड़े हो गये थे और रमेश अपने पिताजी के साथ शहर में अपने बिजनेस के सिलसिले में रहने लगा।

उधर सुरेश पैसो की कमी के कारण आगे की पढाई न कर सका और अपने पिताजी के साथ अपने खेतो में व्यस्त हो गया जिसके कारण दोनों मित्रो का मिलना बहुत कम हो गया लेकिन दोनों एक दुसरे को कभी नही भूले।

Pakki Yaari Dosti Story in Hindi

एक बार की बात है सुरेश के पिताजी जो की अब काफी उम्र के हो चुके थे और दिन पर दिन उनका स्वास्थ्य गिरता ही जा रहा था तो गाँव के डॉक्टर ने निर्देश दिया की वह शहर में जाकर अपने पिताजी का इलाज कराये।

लेकिन सुरेश जो की हमेशा आर्थिक तंगी से परेसान रहता अब पिताजी की बीमारी से उसे और चिंता होने लगी थी की वह इतने सारे पैसे कहा से लायेगा और शहर में कहा इलाज कराएगा।

लेकिन पिताज़ी के गिरते स्वास्थ्य को देखकर उसे अपने पिताजी को लेकर शहर में जाना ही पड़ेगा, ऐसा सोचकर अपने कुछ रिश्तेदारों से थोड़े पैसे मांगकर अपने पिताजी को शहर ले गया और एक अच्छे अस्पताल में दाखिल करा दिया तो डॉक्टर ने बताया की उसके पिताजी के इलाज में लगभग लाख रूपये खर्च होंगे।

इतना सुनने के बाद मानो सुरेश को साप ही सूंघ गया हो वह यह सोचकर परेशान हो गया कि अब वह लाख रूपये कहा से लायेगा अब तो सुरेश को कोई भी उपाय नही सूझ रहा था की क्या करे वह डॉक्टर से यह बोलकर चला गया की उसके पिताजी का इलाज जारी रखे वह पैसो का इंतजाम करने जा रहा है।

उधर सुरेश पैसो के जुटाने के चक्कर में गाव वापस जाने लगा और इसी बीच रमेश को भी गाँव वालो से पता चला की सुरेश अपने पिताजी के इलाज के लिए शहर में आया है तो वह सुरेश से मिलने को बेचैन हो उठा।

जल्द ही उस अस्पताल का पता करके रमेश वहां पहुच गया और उसने तुरंत इलाज के सारे पैसे डॉक्टर को तुरंत चूका दिए और कुछ पैसे सुरेश के पिताजी को भी दे दिए और कम समय होने के कारण रमेश वहां से चला गया और जल्द ही वापस आने को कह गया।

Whatsapp Status in Hindi 2020

इसके बाद सुरेश भी गाव से कुछ पैसो का इंतजाम करके वापस अपने पिताजी के पास आया तो देखा की पिताजी का इलाज चल रहा है।

डॉक्टर के सारे पैसे पहले से जमा हो चुके है तो उसके पिताजी ने रमेश के बारे में सब बाते बताई तो इतना सब सुनने के बाद सुरेश की आखे भर आई और इतने में रमेश भी वापस आ गया।

एक बार फिर रमेश और सुरेश एक दुसरे से मिले तो सुरेश ने रमेश से कहा मित्र अब तुम्हारे पैसे कैसे चूका पाउँगा तो रमेश बोला यदि मुझे इन पैसो की जरूरत होती तो हम क्यू दुसरो को देते।

और रही बात चुकाने की तो मित्र अगर आज मै इस अच्छी स्थिति में हूँ तो तुम्हारे कारण ही हूँ क्योंकि अगर तूम उस दिन स्कूल के समय अगर नही किये होते या कोई भी नही मदद किया होता तो मै नकारात्मक सोच में चला जाता और शायद आज यहां न होता।

रमेश ने कहा की यदि हमे अपने मित्रता के बदले जो भलाई करते है उसके बदले हमे कुछ पाने की आस हो जाए, तो वह भलाई नही एक तरह से व्यापार हो जाता, इसलिए मेरे मित्र जहा मित्रता में निस्वार्थ भावना होती है वही तो सच्ची मित्रता होती है।

और इस प्रकार रमेश और सुरेश ने एक बार फिर अपने सच्ची दोस्ती को सही तरीके से निभा दिए।

तो देखा दोस्तों अगर हम किसी से सच्ची दोस्ती पाना चाहते है तो हमे अपने मन में कभी लालच या कुछ पाने की इच्छा नही रखनी चाहिए, क्योंकि अगर मित्रता में उच्च-नीच, अमीरी-गरीबी और लेनदेन आ जाए तो वह मित्रता ज्यादा दिन तक टिक नही पाती है।

इसलिए दोस्तों हमे कभी भी अपने मित्रो के प्रति हमेसा वफादार होना चाहिए, यही एक सच्चे मित्र की पहचान है।

Mirza Ghalib

Best Love Shayari in Hindi and English Font: If you want to get the best love shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *