Paheliyan in Hindi with answer 2020

Paheliyan in Hindi with answer 2020

यहाँ के लोकप्रिय पहेलियों में, हम पहेलियों, ब्रैन-टीज़र और लॉजिक पज़ल्स को इतना पसंद करते हैं कि हमने अपने पसंदीदा हेड-स्क्रैचर्स के संग्रह को एक साथ रखने का फैसला किया।

देखने में सीकिया पहलवान,
लेकिन गुणों में बलवान,
शीतल मधुर और तरल,
गांठ दार परिधान।
उत्तर- गन्ना

कागज की सी गोल काया,
पेट में भरे पानी,
खाने में लागे चटपटा,
अर्थ करें तो ज्ञानी।
उत्तर- गोलगप्पे

देह सख्त है पत्थर सा,
ऐसी है एक रानी,
लेकिन इतनी शर्मीली वो,
हाथ में लो तो पानी पानी।
उत्तर- बर्फ

रंग बिरंगा गोल शरीर,
करता सदा हवा से बात,
भोजन इसका बड़ा निराला,
खाता हवा और सौ सौ लात
उत्तर- फूटबाल

मुंह काला पर काम बड़ा,
कद छोटा पर नाम बड़ा,
मेरे वश में दुनिया सारी,
रहूं जेब में सस्ती प्यारी।
उत्तर- कलम

हरी टोपी वाला,
लाल वर्दी वाला।
खाने के काम आऊं।
नाम कहो लाला।
उत्तर- टमाटर

जब आप इन्हे पढ़ते व हल करते हैं, तो ये छोटे खेल और अधिक कठिन हो जाते हैं, इसलिए कोशिश करें और इसे अंत तक करें यदि आपको लगता है कि आप इसे हल कर सकते हैं।

WhatsApp Status in Hindi

  1. दूर दूर से मिलते देखा,
    लेकिन था नजरो का धोखा।
  2. बड़ी कोमल, बड़ी सुकुमार,
    बीचध फटल दोनों बगल बाल |
  3. मुट्ठी में उट, कोठी में नाथ,
    टकरा पेनहिना लाल घँघरी |
  4. जवानी में एक भरकी,
    बुढ़ारी में तीन भुरकी |
  5. टपक टाइयाँ रोइयाँ नाय,
    चार टंगरी नायँ |
  6. दिन में एक नहीं, रात हजार,
    रात भर चमके, काला बाजार |
  7. हजार लाख में रहे अँधेरा,
    मात्र एक में ही उजाला |
  8. जितना काटो बढ़ती जाय,
    तुममें कोई नाम बताये |
  9. चलनी में चान चुन, बद्री में रेखा,
    हाय रे प्राण तुझे, कभी न देखा |
  10. चार अँगुल पेड़, सवा मन पत्ता,
    फले बारी-बारी, पके एक बार |
  11. मैं काली हूँ काली, जंगल में रहती हूँ,
    बाल खाना खाती हूँ, बोलो मैं कौन हूँ |
  12. काली हैं पर काग नहीं,
    लम्बी हैं पर नाग नहीं |
    बलखाती है ढोर नहीं,
    बाँधते हैं पर डोर नहीं |
  13. काले वन की रानी हैं,
    लाल-पानी पीती हैं |
  14. अपनों के ही घर ये जाए,
    तीन अक्षर का नाम बताये |
    शुरू के दो अति हो जाए,
    अंतिम दो से तिथि बताये |
  15. बीमार नहीं रहती,
    फिर भी खाती हैं गोली |
    बच्चे, बूढ़े डर जाते,
    सुन इसकी बोली |
  16. एक पहेली मैं बुझाऊ,
    सर को काट नमक छिड़काऊ |
  17. खाते नहीं चबाते लोग,
    काठ में कड़वा रस संयोग |
    दांत जीभ की करे सफाई,
    बोलो बात समझ मे आई |
  18. चार ड्राईवर एक सवारी पीछे चलती दुनिया भारी
  19. मैं मरु मैं कटु
    तुम्हे क्यों आंसू आये
  20. ऊंट की बैठक, हिरन की चाल
    बोलो वह कौन हैं पहलवान
  21. काला मुंह लाल शरीर
    कागज को वह खाता
    रोज शाम को पेट फाड़कर
    कोई इन्हें ले जाता

Paheliyan in Hindi with answer 2020

Paheliyan in Hindi
Paheliyan in Hindi

आंसर:

  1. क्षितिज
  2. आँख
  3. मिर्ची
  4. मेंढक
  5. तारा
  6. चाँद
  7. गड्डा
  8. इन्द्रधनुष
  9. कुम्हार का चाक
  10. चोटी
  11. खटमल
  12. अतिथि
  13. बन्दुक
  14. खीरा
  15. दातुन
  16. मुर्दा
  17. प्याज
  18. मेंढक
  19. लेटरबॉक्स

Paheliyan in Hindi with answer 2020

लाल रंग मेरा अंग है,
सब ही मैं पाया जाऊं,
बड़ी मुसीबत बन जाती है,
जब मैं अंग से बह जाऊं।
उत्तर- खून

हरी डंडी, लाल कमान
तौबा तौबा करे इंसान
(मिर्ची)

कल बनता धड़ के बिना
मल बनता सिरहीन
थोड़ा हु पैर करे तो
अक्सर केवल तीन
(कमल)

तीन अक्सर का मेरा नाम
उल्टा सीधा एक समान
(जहाज)

पानी से निकला वृक्ष एक
पात नहीं पर डाल अनेक
एक दरखत की ठंडी छाया
नीचे एक बैठ न पाया
(फुहारा)

हमने देखा अजब एक बंदा
सूरज के सामने रहता ठंडा
धुप में जरा नहीं घबराता
सूरज की तरफ मुँह लटक जाता
(सूरजमुखी)

परत -परत पर जमा हुआ हैं
इसे ज्ञान की जान
बस्ता खोलेगा तो उसको
जाओगे तुम पहचान
(किताब)

काला हंडा उजला भात
ले-लो भाई हाथो -हाथ
(सिंघाड़ा)

हाथी, घोड़े ऊंट नहीं
खाए न दाना, घास
सदा ही धरती पर चले
होए न कभी उदास
(साइकिल)

मैं हरी, मेरे बच्चे काले
मुझको छोड़, मेरे बच्चे खाले
(इलायची)

चार हैः रानियाँ और एक राजा
हर एक काम में उनका अपना साझा
(अंगूठा और ऊँगली)

तीन अक्सर का मेरा नाम
आदि कटे तो चार
कैसे हो तुम में जानू
बोलो तुम सोच-विचार
(अचार)

वह कौन सी चीज है ,
जो बिना पानी के समुद्र,
बिन पेड़ के जंगल,
बिन फसल के खेत,
बिना आदमी के,
शहर दिखाती है।
उत्तर- मानचित्र

पहेलियाँ उत्तर के साथ हिंदी में

बिना तेल के जलता है,
पैर बिना वह चलता है,
रोशनी देना उसका काम
बताओ अब उसका नाम
उत्तर- सूरज

एक फूल काले रंग का,
सर पर सदा सुहाए
तेज धुप में खिल-खिल जाता
पर छाया में मुरझाये
(छाता)

सापो से भरी एक पिटारी
सब के मुँह में दो चिंगारी
जोड़ो हाथ तो निकल घर से
फिर घर पर सर दे पटके
(माचिस)

हाथ- पैर सब जुदा-जुदा
ऐसी सूरत दे खुदा
जब वह मूरत बन ठन आवे
हाथ धरे तो रोग सुनावे
(हुक्का)

अंत कटे कौआ बन जाये,
प्रथम कटे दुरी का माप
मध्य कटे तो कार्य बने
तीन अक्सर का उसका नाम
(कागज)

ऐसा शब्द लिखिए जिससे,
फूल, मिठाई, फल बन जाए
(गुलाबजामुन)

एक छोटा सा बन्दर
जो उछले पानी के अन्दर
(मेंढ़क)

थल में पकडे पैर तुम्हारे,
जल में पकडे हाथ |
मुर्दा होकर भी रहता है,
जिंदो के ही साथ
(जूता)

बच्चे भी कहते है मामा
बूढ़े भी कहते है मामा
दीदी भी खेती है मामा
बोलो कौन से मामा
(चंदा मामा)

तीन पैर की तितली
नहा धोकर निकली
(समोसा)

आग लगे तो पानी बहे,
पानी गिर जम जाए,
दूजों को दे रोशनी,
अपना बदन गलाए।
उत्तर- मोमबत्ती

Paheliyan in Hindi with answer
Paheliyan in Hindi with answer

ऊंट की बैठक, हिरण की चाल
वह कौन सा जानवर, जिसके दूम ना पाल
(मेंढ़क)

न काशी, न बाबा धाम
बिन जिसके हो चक्का जाम
झट से बताओ उसका नाम
(पैट्रोल)

आवाज हैं, इंसान नहीं
जवान हैं,निशाँ नहीं
(ऑडियो कैसेट)

बैठ नाक पर ले अंगड़ाई,
कानों पर है टांग फसाई,
उसने आकर नजर बधाई,
हो गई तो आसन पढ़ाई।
उत्तर- ऐनक

Facebook Quotes

स्कूटर में है,
साइकिल में नहीं,
मोटर गाड़ी में है,
बैल गाड़ी में नहीं।
उत्तर- इंजन

खुशबू हैं गुलाब नहीं
रंगीन हैं लेकिन शराब नहीं
सुगंध हैं कोई प्रेम पत्र नहीं
ये जहर हैं लेकिन गुलाब नहीं।
(इत्र)

शुरू कटे तो नमक बने,
मध्य कटे तो कान।
अंत कटे तो काना बन।
जो न जाने उसका बाप शैतान।
(कानून )

हरी डब्बी,पीला माकन,
उसमे बैठे कलूराम।
(पपीता और बीज )

खड़ी करो तो गिर पड़े,
दौड़ी मिलो जाये।
नाम बता दो इसका,
यह तुम्हे हमें बिठाए।
(साईकिल)

बिल्ली की पूछ हाथ में,
बिल्ली रहे इलाहबाद।
(पतंग)

नया खजाना घर में आया,
डब्बा में संसार समाया।
नया करिश्मा बेजोडी का,
नाम बताओ इस योगी का,
(टेलीविजन)

छोटा- धागा,
सारी बात ले भागा।
(टेलीफोन)

भूमि कि मैं उपज बढ़ाऊं,
बिना आंख के मैं चल पाऊ,
गर्मी में ना आए नजर,
भूमि ही है मेरा घर।
उत्तर- केंचुआ

Best WhatsApp Status in Hindi

चार है रानी और एक है राजा,
हर एक काम मे उनका अपना सांझा।
उत्तर- हाथ

आदि कटे से सबको पारे। मध्य कटे से सबको मारे।
अन्त कटे से सबको मीठा। खुसरो वाको ऑंखो दीठा॥
उत्तर – काजल

एक थाल मोती से भरा। सबके सिर पर औंधा धरा।
चारों ओर वह थाली फिरे। मोती उससे एक न गिरे॥
उत्तर – आकाश

एक नार ने अचरज किया। साँप मार पिंजरे में दिया।
ज्यों-ज्यों साँप ताल को खाए। सूखै ताल साँप मरि जाए॥
उत्तर – दीये की बत्ती

एक नारि के हैं दो बालक, दोनों एकहिं रंग।
एक फिरे एक ठाढ रहे, फिर भी दोनों संग॥
उत्तर – चक्की

खेत में उपजे सब कोई खाय।
घर में होवे घर खा जाय॥
उत्तर – फूट

गोल मटोल और छोटा-मोटा,
हर दम वह तो जमीं पर लोटा।
खुसरो कहे नहीं है झूठा,
जो न बूझे अकिल का खोटा।।
उत्तर – लोटा।

श्याम बरन और दाँत अनेक, लचकत जैसे नारी।
दोनों हाथ से खुसरो खींचे और कहे तू आ री।।
उत्तर – आरी

हाड़ की देही उज् रंग, लिपटा रहे नारी के संग।
चोरी की ना खून किया वाका सर क्यों काट लिया।
उत्तर – नाखून।

बाला था जब सबको भाया, बड़ा हुआ कुछ काम न आया।
खुसरो कह दिया उसका नाव, अर्थ करो नहीं छोड़ो गाँव।।
उत्तर – दिया।

नारी से तू नर भई और श्याम बरन भई सोय।
गली-गली कूकत फिरे कोइलो-कोइलो लोय।।
उत्तर – कोयल।

एक नार तरवर से उतरी, सर पर वाके पांव
ऐसी नार कुनार को, मैं ना देखन जाँव।।
उत्तर – मैंना।

कद के छोटे कर्म के हीन,
बीन बजाने के शौकीन।
उत्तर- मच्छर

Paheliyan in Hindi with answer 2020

घोड़ा दौड़ा पटरी पर,
फिर उड़ जाएगा ऊपर,
बादल के प्यारे घर में,
दूर हवा के अंदर में।
उत्तर – हवाईजहाज

तरवर से इक तिरिया उतरी उसने बहुत रिझाया
बाप का उससे नाम जो पूछा आधा नाम बताया
आधा नाम पिता पर प्यारा बूझ पहेली मोरी
अमीर ख़ुसरो यूँ कहेम अपना नाम नबोली
उत्तर—निम्बोली

फ़ारसी बोली आईना,
तुर्की सोच न पाईना
हिन्दी बोलते आरसी,
आए मुँह देखे जो उसे बताए
उत्तर—दर्पण

बीसों का सर काट लिया
ना मारा ना ख़ून किया
उत्तर—नाखून

Paheliyan in Hindi with answer 2020

एक गुनी ने ये गुन कीना, हरियल पिंजरे में दे दीना।
देखो जादूगर का कमाल, डारे हरा निकाले लाल।।
उत्तर—पान

एक परख है सुंदर मूरत, जो देखे वो उसी की सूरत।
फिक्र पहेली पायी ना, बोझन लागा आयी ना।।
उत्तर—आईना

बाला था जब सबको भाया, बड़ा हुआ कुछ काम न आया।
खुसरो कह दिया उसका नाँव, अर्थ कहो नहीं छाड़ो गाँव।।
उत्तर—दिया

घूम घुमेला लहँगा पहिने,
एक पाँव से रहे खड़ी
आठ हात हैं उस नारी के,
सूरत उसकी लगे परी ।
सब कोई उसकी चाह करे है,
मुसलमान हिन्दू छत्री ।
खुसरो ने यह कही पहेली,
दिल में अपने सोच जरी ।
उत्तर – छतरी

खडा भी लोटा पडा पडा भी लोटा।
है बैठा और कहे हैं लोटा।
खुसरो कहे समझ का टोटा॥

  • लोटा

घूस घुमेला लहँगा पहिने, एक पाँव से रहे खडी।
आठ हाथ हैं उस नारी के, सूरत उसकी लगे परी।
सब कोई उसकी चाह करे, मुसलमान, हिंदू छतरी।
खुसरो ने यही कही पहेली, दिल में अपने सोच जरी।

  • छतरी

Paheliyan in Hindi with answer 2020

रात गली में खड़ा,
डंडा लेकर बड़ा,
रहो जागते होशियार,
कहता है वह बार बार।
उत्तर – चौकीदार

पैदा होऊं तो हरी हरी में,
बड़ी होऊं तो लाल,
पेट में रखती मोती माला
देखो मेरा कमाल।
उत्तर- मिर्च

एक वृक्ष दो अक्षर का बताया,
करता यह कीटों का सफाया,
यह औषधि दातुन के काम आया
नाम बताओ इसका भाया।
उत्तर- नीम

हिमालय से चलकर आता,
तीन अक्षर का नाम बताता,
दूध में मैं जब जुड़ जाता,
तब मैं बुद्धि को भी बढ़ाता।
उत्तर- बादाम

आज हूं तो कल नहीं,
कल वाली परसों नहीं,
फिर आऊंगी बाद महीना,
बताओ मेरा नाम सयाना।
उत्तर- तिथि

Paheliyan in Hindi with answer 2020

एक तालाब रस से भरा,
बेल पड़ी लहराए,
फूल खिला बेल पर,
फूल बेल को खाए।
उत्तर- दीया

बैठा रहे एक जगह वह,
घर से बाहर ना जाता,
फिर भी दुनिया भर से बातें,
तुम तक हूं पहुंचाता।
उत्तर- टेलीफोन

सोने को पलंग नहीं,
ना ही महल बनाए,
एक रुपया पास नहीं,
फिर भी राजा कहलाए।
उत्तर- शेर

एक बाग में फूल अनेक,
उन फूलों का राजा एक,
बगिया में जब राजा आए,
बगिया में चांदनी छा जाए।
उत्तर- चाँद

Paheliyan in Hindi with answer 2020

Mirza Ghalib

Best Love Shayari in Hindi and English Font: If you want to get the best love shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *