151 Best Khwahish Status – Poetry in Hindi

51 Best Khwahish Quotes – Status – Shayari – Poetry in Hindi

ख़्वाहिश कोट्स
खुशियों के रंग
ख़्वाहिश कोट्स
ख्वाहिश शायरी इन हिंदी

एक अधूरी ख्वाइश मेरी पूरी हो जाये
मुझे याद करना उनकी मजबूरी हो जाये
ऐ खुदा कुछ ऐसी तकदीर बना दे
के उनकी हर ख़ुशी हमारे बिना अधूरी हो जाये…!!

मन में पलने वाली हर इच्छा ही ख़्वाहिश होती है कि वह कभी सच भी हो जाए।

शायर तसव्वुर में रहते हैं, तसव्वुर इच्छाओं को भी साथ लाता है और इसलिए शायरों ने ख़्वाहिश पर ख़ूब लिखा है।

Khwahish Quotes
Khwahish Quotes

फिर थकी हारी एक ख़्वाहिश ने
ज़ानू-ए-शब पे सर को जा रक्खा

  • जीना क़ुरैशी

उस ने बड़ा मोहतात रवय्या रखा फिर भी
लहजे से झलकता रहा ख़्वाहिश का इरादा

  • रफ़ीक़ ख़याल

छोटी छोटी सी ख़्वाहिशों के लिए
कोई ज़िंदा रहा हमेशा से

  • ताजदार आदिल

रोते रोते हँसी मेरी ख़्वाहिश
मिल गई इक नई ख़बर शायद

  • जाफ़र साहनी

ख़्वाहिश कि थी आदमी को लाज़िम
बढ़ कर इल्ज़ाम हो गई है

  • इस्माइल मेरठी

तुझ को छूने की भी नहीं ख़्वाहिश
तुझ को आँखों से चूमना है मुझे

  • कँवल मलिक

हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि, हर ख़्वाहिश पे दम निकले
बहुत निकले मेरे अरमान, लेकिन फिर भी कम निकले

  • ग़ालिब

मेरी ख़्वाहिश है कि फिर से मैं फ़रिश्ता हो जाऊँ
माँ से इस तरह लिपट जाऊं कि बच्चा हो जाऊँ

  • मुनव्वर राना

मेरी ख़्वाहिश के मुताबिक तिरी दुनिया कम है
और कुछ यूँ है ख़ुदा हद से ज़ियादा कम है

  • शहबाज़ ‘नदीम’ ज़ियाई

हसरत है, तुझे सामने बैठे, कभी देखूँ
मैं तुझ से मुख़ातिब हूँ, तेरा हाल भी पूछूँ

  • किश्वर नाहिद

151 Best Khwahish Quotes – Status – Shayari – Poetry in Hindi

मिल जाए आसानी से
उसकी ख्वाहिश किसे है,
हमे जिद तो उसकी है
जो मुक़द्दर में ही नहीं है।
 
जिंदगी ये लगने लगेगी, बहुत ही हल्की
बोझ ख़्वाहिशों का थोड़ा कम कर लें अगर
 
मेरे टूटने की वजह मेरे जोहरी से पूछो…
उस की ख्वाहिश थी कि मुझे थोडा और तराशा जाये
 
ख्वाहिशात जब मर जाती है तो बस… 
समझौते ही बाकी रह जाते हैं। 
 
कहने को दिल में तो बहुत से बाते हैं, 
मुख़्तसर लफ़्ज़ों में मेरी आखिरी ख्वाहिश हो तुम
 
सुनो तुम्हे सोच सोच कर थक गया हूँ, 
अब तुम्हें याद आना चाहता हूँ। 
 
हमारे लिए नहीं हामी पर सही, 
चलो वो आज दिल खोलकर हँसे तो सही |

100 Best Hindi Shayari Quotes for Love in 2020

ख़्वाहिश ये नही की तुम मुझे बेपनाह प्यार करो
चाहत इतनी है की बस तुम महसूस तो करो

Khwahish quotes
Khushiyon ke rang
Khwahish Shayari in Hindi

के हर मुलाक़ात तुमसे क्यों लगती है
जैसे रह गयी कोई बात अनकही
कैसे बातो में तुमसे यह कह दू के
तुम हो मेरी एक ख्वाहिश अधूरी सी

kuch khwahishein adhuri si quotes
kuch khwahishein adhuri si quotes

के यह प्रीत का बंधन है कैसा
एक रिश्ता यह कि जिसका कोई नाम नहीं
क्यों नहीं तुमको अपना कह पाते के
तुम हो मेरी एक ख्वाहिश अधूरी सी

के आँखों के दर्पण में बसती हो यूँ
एक आँसू बन पलकों में है छुप जाती
एक मोती की तरह संजो रखा है के
तुम हो मेरी एक ख्वाहिश अधूरी सी
 
के एक सपना हो तो तुम कुछ ऐसा
जो टूट जात हर सुबह अधूरा ही
जो कभी ख्वाब में भी पूरी न हो के
तुम हो मेरी एक ख्वाहिश अधूरी सी

आपनी परवाज़-ए-तखय्युल हैं ज़माने से जुदा
जिस जगह कोइ न पहुंचा वहाँ तक पहूँचे
मैं समझता हुं हर दिल में खुदा रहता है
मेरा पैगाम मोहब्बत हैं जहान तक पहुंचे 
 
कोई अधूरी ख्वाहिश तेरी ना रहे,
तू चाहे जिसे उसे तेरी दुरी ना रहे,
ख़ुशियो के इतने फूल खिले तेरी ज़िन्दगी में,
की हमारी याद भी तेरे लिए जरुरी ना रहे।

अब शहर-ए-जान बचाने की ख्वाहिश न रही,
फिर से आन गंवाने की ख्वाहिश न रही।
तुम पलट के आने की ख्वाहिश को मार दो,
अब तुम को आजमाने की ख्वाहिश न रहीं। 

151 Best Khwahish Quotes – Status – Shayari – Poetry in Hindi  

सारे जहां से अच्छा… के लेखक मोहम्मद इकबाल को अलामा (विद्वान) इकबाल के नाम से भी जाना जाता है।

कुछ समीक्षक इन्हें गालिब के बाद उर्दू का सबसे बड़ा शायर मानते हैं। हालांकि वेस्टर्न एजुकेशन लेने के बाद इकबाल ने उर्दू के बजाए फारसी में ही ज्यादातर शेर लिखे। पेश हैं उनके कुछ शेर…

खुदी को कर बुलन्द इतना कि हर तकदीर से पहले,
खुदा बंदे से खुद पूछे बता तेरी रजा क्या है।
(रजा – इच्छा, तमन्ना, ख्वाहिश)

जफा जो इश्क में होती है वह जफा ही नहीं,
सितम न हो तो मुहब्बत में कुछ मजा ही नहीं।
(जफा – जुल्म)

ढूंढता रहता हूं ऐ ‘इकबाल’ अपने आप को,
आप ही गोया मुसाफिर, आप ही मंजिल हूं मैं।

दिल की बस्ती अजीब बस्ती है,
लूटने वाले को तरसती है।

मिटा दे अपनी हस्ती को गर कुछ मर्तबा चाहिए,
कि दाना खाक में मिलकर, गुले-गुलजार होता है।
(मर्तबा – इज्जत, पद)

मुझे रोकेगा तू ऐ नाखुदा क्या गर्क होने से,
कि जिसे डूबना हो, डूब जाते हैं सफीनों में।
(1. नाखुदा – मल्लाह, नाविक 2. गर्क – डूबना 3. सफीना – नौका)

हजारों साल नर्गिस अपनी बेनूरी पे रोती है,
बड़ी मुश्किल से होता है चमन में दीदावर पैदा।
(दीदावर – पारखी)

Best Urdu Shayari in Hindi

खुदा के बन्दे तो हैं हजारों बनो में फिरते हैं मारे-मारे,
मैं उसका बन्दा बनूंगा जिसको खुदा के बन्दों से प्यार होगा।

सितारों से आगे जहां और भी हैं,
अभी इश्क के इम्तिहां और भी हैं।

सख्तियां करता हूं दिल पर गैर से गाफिल हूं मैं,
हाय क्या अच्छी कही जालिम हूं, जाहिल हूं मैं।
(गाफिल – अनजान)

साकी की मुहब्बत में दिल साफ हुआ इतना,
जब सर को झुकाता हूं शीशा नजर आता है।

मुमकिन है कि तू जिसको समझता है बहारां,
औरों की निगाहों में वो मौसम हो खिजां का।

किसी एक से करो तो करो तुम प्यार इतना,
के किसी और से प्यार करने की गुंजाइश न रहे,
वह मुस्कुरा दे आप को देख कर एक बार,
तो ज़िन्दगी से फिर कोई ख्वाहिश न रहे। 

Selected 25 Shayari of Mirza Ghalib

गालिब इश्क को जीते थे। वह इश्क का आखिरी छोर थे। उनकी नज्में और शेर ने सालों साल इश्क की तहजीब दुनिया को दी है।

अगर हम यूं कहें कि इश्क गालिब से शुरू होता है तो यह कोई आश्चर्यजनक बात नहीं होगी।

उनका हर शेर एक जिंदादिल आशिक की तरह इश्क की रस्मों को निभाता है। उनके कुछ ऐसे दमदार शेर हम आपकी नजर कर रहे हैं।

हज़ारों ख़्वाहिशें ऐसी कि हर ख़्वाहिश पर दम निकले,
बहुत निकले मेरे अरमान लेकिन फिर भी कम निकले।

151 Best Khwahish Quotes – Status – Shayari – Poetry in Hindi

इम्तहाँ…
यही है आज़माना तो सताना किसको कहते हैं,
अदू के हो लिए जब तुम तो मेरा इम्तहां क्यों हो।

हमको मालूम है जन्नत की हक़ीक़त लेकिन,
दिल के खुश रखने को ‘ग़ालिब’ ये ख़याल अच्छा है।

रौनक…
उनको देखे से जो आ जाती है मुँह पर रौनक,
वो समझते हैं के बीमार का हाल अच्छा है।

इश्क़ पर जोर नहीं है ये वो आतिश ‘ग़ालिब’,
कि लगाये न लगे और बुझाये न बुझे।

सहर…
तेरे वादे पर जिये हम, तो यह जान, झूठ जाना,
कि ख़ुशी से मर न जाते, अगर एतबार होता।

तुम न आए तो क्या सहर न हुई,
हाँ मगर चैन से बसर न हुई।
मेरा नाला सुना ज़माने ने,
एक तुम हो जिसे ख़बर न हुई।

ख़ुदा…
न था कुछ तो ख़ुदा था, कुछ न होता तो ख़ुदा होता,
डुबोया मुझको होने ने न मैं होता तो क्या होता !

हुआ जब गम से यूँ बेहिश तो गम क्या सर के कटने का,
ना होता गर जुदा तन से तो जहानु पर धरा होता!

Sad Shayari in hindi
Sad Shayari in hindi

याद…

हुई मुद्दत कि ‘ग़ालिब’ मर गया पर याद आता है,
वो हर इक बात पर कहना कि यूँ होता तो क्या होता !

गुफ़्तगू…
हर एक बात पे कहते हो तुम कि तू क्या है,
तुम्हीं कहो कि ये अंदाज़-ए-गुफ़्तगू क्या है।

न शोले में ये करिश्मा न बर्क़ में ये अदा,
कोई बताओ कि वो शोखे-तुंदख़ू क्या है।

रश्क…
ये रश्क है कि वो होता है हमसुख़न हमसे,
वरना ख़ौफ़-ए-बदामोज़ी-ए-अदू क्या है।

चिपक रहा है बदन पर लहू से पैराहन,
हमारी ज़ेब को अब हाजत-ए-रफ़ू क्या है।

जुस्तजू…
जला है जिस्म जहाँ दिल भी जल गया होगा,
कुरेदते हो जो अब राख जुस्तजू क्या है।

रगों में दौड़ते फिरने के हम नहीं क़ायल,
जब आँख ही से न टपका तो फिर लहू क्या है।

अज़ीज़…
वो चीज़ जिसके लिये हमको हो बहिश्त अज़ीज़,
सिवाए बादा-ए-गुल्फ़ाम-ए-मुश्कबू क्या है।

पियूँ शराब अगर ख़ुम भी देख लूँ दो चार,
ये शीशा-ओ-क़दह-ओ-कूज़ा-ओ-सुबू क्या है।

उम्मीद…

रही न ताक़त-ए-गुफ़्तार और अगर हो भी,
तो किस उम्मीद पे कहिये के आरज़ू क्या है।

बना है शह का मुसाहिब, फिरे है इतराता,
वगर्ना शहर में “ग़ालिब” की आबरू क्या है।

दीवार…
ये हम जो हिज्र में दीवार-ओ-दर को देखते हैं,
कभी सबा को, कभी नामाबर को देखते हैं।

वो आए घर में हमारे, खुदा की क़ुदरत हैं,
कभी हम उमको, कभी अपने घर को देखते हैं।

ज़ख़्मे जिगर…
नज़र लगे न कहीं उसके दस्त-ओ-बाज़ू को,
ये लोग क्यूँ मेरे ज़ख़्मे जिगर को देखते हैं।

तेरे ज़वाहिरे तर्फ़े कुल को क्या देखें,
हम औजे तअले लाल-ओ-गुहर को देखते हैं।

kuch khwahishein adhuri si quotes

Top Attitude Status in Hindi for FB, Whatsapp 2020

अधूरी ख्वाहिश शायरी

Makar Sankranti Gift Ideas for Ladies 2020

51 Best Khwahish Quotes – Status – Shayari – Poetry in Hindi

Mirza Ghalib

Best Love Shayari in Hindi and English Font: If you want to get the best love shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published.